With the development of Braj Chaurasi Kos Circuit, employment and number of tourists will increase: District Collector-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 12, 2024 10:27 pm
Location
Advertisement

ब्रज चौरासी कोस सर्किट विकसित होने से रोजगार और पर्यटकों की संख्या में होगी बढ़ोतरी : जिला कलेक्टर

khaskhabar.com : बुधवार, 12 जून 2024 6:39 PM (IST)
ब्रज चौरासी कोस सर्किट विकसित होने से रोजगार और पर्यटकों की संख्या में होगी बढ़ोतरी : जिला कलेक्टर
डीग। राज्य के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के निर्देशानुसार जिले में ब्रज चौरासी सर्किट को भक्ति पर्यटन के रूप में विकसित करने के लिए जिला कलेक्टर श्रुति भारद्वाज की अध्यक्षता में बुधवार को डीएम कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक की गई।

बैठक में जिला कलेक्टर ने परिक्रमा मार्ग में पेयजल, शौचालय, यात्री निवास इत्यादि सुविधाओं का विकास करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए है। मार्ग के विकास के लिए विधिवत रूप से नक्शे के माध्यम से क्षेत्र का पूर्ण अध्ययन कर महत्वपूर्ण स्थानों को विकसित करने के लिए अधिकारियों से सुझाव लिए गए।
जिला कलेक्टर भारद्वाज ने कहा कि परिक्रमा मार्ग पर पड़ने वाले सभी शेल्टर होम्स में बिजली और पानी की व्यवस्था कराई जाएगी साथ ही निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए सौर और पवन ऊर्जा का प्रयोग किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नवीनतम प्रौद्योगिकी का प्रयोग करते हुए दूरदराज गांवों में विद्युत सप्लाई सुनिश्चित की जाएगी।
इस दौरान परिक्रमा मार्ग पर पानी की आपूर्ति की समीक्षा की जिसे संतोषजनक पाया गया। शेल्टर होम को संचालित करने के लिए जिनमे साफ सफाई, मेंटेनेंस आदि शामिल हैं। वे स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से करवाने पर विशेष ध्यान देने की बात की गई है। एसएचजी महिलाओं को लखपति बनाने के लिए परिक्रमा मार्ग पर कैफेटेरिया, मल्टीपर्पज स्टोर आदि खोलने को कहा गया है।
पायलट स्टडी के रूप में जल्द ही एक शेल्टर होम एसएचजी की महिलाओं द्वारा संचालित करते हुए देखा जायेगा। इस दौरान हेलीपैड, सर्किट हाउस रेस्ट रूम आदि विकास करने पर भी चर्चा की गई। भारद्वाज ने विशेष रूप से परिक्रमा मार्ग में रोड कनेक्टिविटी, सड़कों के किनारे वृक्षारोपण, बस स्टैंड निर्माण, पीकॉक गार्डन एवं पार्किंग व्यवस्था को विकसित करने के कार्य योजना बनाने को कहा है। उन्होंने नवल किशोरी कुंड, अप्सरा कुंड, गौरीकुंड आदि कुंडों की साफ सफाई एवं फव्वारे निर्मित करने को भी कहा ताकि बायोलॉजिकल ऑक्सीजन डिमांड को संतुलित किया जा सके।
इस अवसर पर के अतिरिक्त जिला कलेक्टर संतोष कुमार मीणा, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी भरतपुर शैलेंद्र सिंह, उपनिदेशक पर्यटन विभाग संजय जौहरी, उपखंड अधिकारी डीग रवि गोयल, उपखंड अधिकारी कामां सुनील झिंगोनिया, एसई पीएचईडी विजय सिंह कुंतल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement