Today we and our culture have survived because of the elderly. Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Feb 8, 2023 8:29 pm
Location
Advertisement

वृद्धजनों की बदौलत आज हम और हमारी संस्कृति बची हुई है - महामंडलेश्वर कैलाशानंद जी

khaskhabar.com : शुक्रवार, 01 अक्टूबर 2021 1:23 PM (IST)
वृद्धजनों की बदौलत आज हम और हमारी संस्कृति बची हुई है - महामंडलेश्वर कैलाशानंद जी
ट्रस्ट के चैयरमैन अनिल कुमार मोंगा ने कहा कि आज यहाँ पर 350 कमरे व संगत सुविधाओं के साथ बेहतरीन परम्पराओ, जीवन के उच्चस्तरीय स्पंदन, सादे व पौष्टिक भोजन, चिकित्सा सुविधाओं और सामाजिक संबंधों/दोस्ती व साहचर्य का अनुभव कर रहे 350 से भी अधिक सीनियर सिटीजन रहे हैं और उनके माध्य से इस कार्यक्रम को संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों के बेहद आग्रह 150 और कक्षों के भवन का निर्माण किया जा रहा है जो कैम्पस में है और इसके इस साल दिसंबर में पूरा होने की उम्मीद है।

निरंजनी अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर अनंत विभूषित श्री श्री 1008 कैलाशानंद गिरि जी महाराज ने कहा कि इस ट्रस्ट द्वारा अपने प्रकल्प ब्रह्मभोग के माध्यम से भूखे, अशक्त , निराश्रित लोगों को भोजन देने, अनाथालय, चिकित्सा प्रकल्प कर्मा हेल्थकेयर के माध्यम से चिकित्सा देने का कार्य किया जा रहा है। वहीं महिला सशक्तिकरण, युवा कल्याण, लोगों को सामाजिक बुराइयों से दूर कर उन्हें समाज की मुख्यधारा में प्रशिक्षण देकर, मार्गदर्शन देकर शामिल करने का कार्य मार्गदर्शन प्रकल्प के माध्यम से किया जा रहा है। जिसके लिए ट्रस्ट की कार्यकारिणी बधाई के पात्र हैं।

2/3
Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement