The entire country is indebted to the martyrs who lost their lives for the country: Chief Minister-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 22, 2024 8:15 pm
Location
Advertisement

देश की ख़ातिर अपनी जानें गंवाने वाले शहीदों का समूचा मुल्क कर्जदार है : मुख्यमंत्री

khaskhabar.com : रविवार, 17 दिसम्बर 2023 8:38 PM (IST)
देश की ख़ातिर अपनी जानें गंवाने वाले शहीदों का समूचा मुल्क कर्जदार है : मुख्यमंत्री
मोड़ (बठिंडा)। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने ड्यूटी के दौरान शहीदी प्राप्त करने वाले भारतीय फ़ौज के जवान अमरीक सिंह के परिवार को वित्तीय सहायता के तौर पर एक करोड़ रुपए का चैक सौंपा।

शहीद के पिता गुरजंट सिंह को चैक सौंपते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अमरीक सिंह गाँव झंडूके का रहने वाला था और उसने झांसी (उत्तर प्रदेश) में तैनाती के दौरान धरती माता की सेवा करते हुए शहीदी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि इस जवान की तरफ से देश के लिए दिए गए महान बलिदान के सम्मान के तौर पर परिवार को यह वित्तीय सहायता दी जा रही है।
मान ने कहा कि समूचा देश इन शहीदों का कर्जदार है, जिन्होंने देश और इसके लोगों के ख़ातिर अपनी जानें कुर्बान की। मुख्यमंत्री ने कहाकि राज्य सरकार का यह विनम्र सा प्रयास देश की एकता, अखंडता और प्रभुसत्ता को बरकरार रखने के लिए धरती माँ के इन पुत्रों के कीमती योगदान के सम्मान के तौर पर है।
देश की सुरक्षा के लिए अपनी जान कुर्बान करने वाले सैनिकों के परिवारों की मदद के लिए राज्य सरकार की दृढ़ वचनबद्धता दोहराते हुए उन्होंने कहा कि यह पंजाब सरकार का प्रारंभिक फर्ज है। शहीद के परिवार को यह वित्तीय सहायता, राज्य सरकार की तरफ से सैनिकों और उनके परिवारों की भलाई यकीनी बनाने की वचनबद्धता के अनुसार है।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सैनिकों के महान बलिदान को मान्यता देने के लिए पंजाब सरकार की कोशिशों की सराहना की। मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार सेवा के दौरान शहीद हुए हथियारबंद बलों के जवानों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता दे रही है। उन्होंने कहा कि यह केंद्र सरकार की अग्निवीर योजना के उलट है, जहाँ शहीद जवानों के परिवारों को एक पैसे की भी आर्थिक सहायता या सम्मान न देकर शर्मसार किया जाता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement