JP Nadda ambitious AIIMS to be opened by Modi in poll-bound Himachal-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 2, 2022 2:51 pm
Location
Advertisement

चुनाव वाले हिमाचल में मोदी करेंगे नड्डा के महत्वाकांक्षी एम्स का उद्घाटन

khaskhabar.com : सोमवार, 03 अक्टूबर 2022 6:02 PM (IST)
चुनाव वाले हिमाचल में मोदी करेंगे नड्डा के महत्वाकांक्षी एम्स का उद्घाटन
बिलासपुर (हिमाचल प्रदेश) । विधानसभा चुनाव वाले राज्य में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा की महत्वाकांक्षी परियोजना एम्स-बिलासपुर का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को करेंगे। इसका शिलान्यास ठीक पांच साल पहले किया गया था।

मोदी उसी दिन कुल्लू के दशहरा उत्सव में शामिल होकर ऐसा करने वाले पहले प्रधानमंत्री होंगे। यहां हर साल 200 से अधिक देवी-देवताओं की मूर्तियां रखी जाती हैं। उत्सव सप्ताह भर चलता है।

राज्यसभा सांसद नड्डा रविवार को हिमाचल प्रदेश की राजधानी से 130 किलोमीटर दूर बिलासपुर पहुंचे और जिले के कोठीपुरा में एम्स के उद्घाटन की तैयारियों का जायजा लिया। उद्घाटन असवर पर मोदी एक जनसभा को संबोधित करेंगे, जिसमें एक लाख लोगों के पहुंचने का अनुमान है।

भाजपा शासित इस पहाड़ी राज्य में 68 सदस्यीय विधानसभा के लिए नवंबर में मतदान होने की संभावना है।

भाजपा प्रवक्ता करण नंदा ने आईएएनएस को बताया, "हम लुहनू मैदान में राज्यभर से एक लाख से अधिक लोगों के इकट्ठा होने की उम्मीद कर रहे हैं। यह जनसभा एम्स-बिलासपुर के उद्घाटन के बाद होगी।"

इससे पहले 24 सितंबर को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के गृहनगर मंडी में मोदी की चुनावी रैली बारिश में धुल गई थी।

जिस दिन देश के बाकी हिस्सों में विजयादशमी उत्सव समाप्त होता है, उसी दिन कुल्लू में सदियों पुराना अनोखा दशहरा उत्सव शुरू होता है।

नंदा ने कहा, "मोदी जी बिलासपुर में अपना सार्वजनिक भाषण समाप्त करने के बाद कुल्लू के दशहरा उत्सव में शामिल होंगे। वह इस उत्सव में शामिल वाले पहले प्रधानमंत्री होंगे।"

दशहरे के पहले दिन कुल्लू के सुल्तानपुर स्थित ऐतिहासिक मंदिर से हजारों भक्त भगवान रघुनाथ का रथ निकालते हैं। रथयात्रा 'जय रघुनाथ' के मंत्रों और तुरही व नगाड़े की ध्वनि के बीच निकाली जाती है।

कुल्लू का दशहरा सन् 1637 में शुरू हुआ था, जब राजा जगत सिंह का शासन था।

अधिकारियों ने कहा कि मोदी के भगवान रघुनाथ के रथ को खींचने में भी शामिल होने की उम्मीद है।

अधिकारियों ने आईएएनएस को बताया कि 750 बिस्तरों वाला एम्स 1,350 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित किया गया है, जिसमें 100 सीटों की क्षमता वाले मेडिकल कॉलेज और 60 सीटों वाले नर्सिग कॉलेज की सुविधा है।

मोदी ने 3 अक्टूबर, 2017 को बिलासपुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की नींव रखी थी, जिसे दिसंबर 2021 तक पूरा करने की समय सीमा तय की गई थी।

पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री नड्डा ने कहा है कि बिलासपुर में एम्स स्वास्थ्य क्षेत्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार की उपलब्धियों की सूची में एक और मील का पत्थर है। यह न केवल हिमाचल प्रदेश, बल्कि अन्य उत्तरी राज्यों में भी बड़ी आबादी को चिकित्सा सेवाएं प्रदान करेगा।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement