Jaihind prize riot, riot arena built in front of BJP office-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Feb 8, 2023 8:21 pm
Location
Advertisement

जयहिंद का इनामी दंगल , भाजपा कार्यालय के सामने बना दंगल का अखाडा

khaskhabar.com : मंगलवार, 06 दिसम्बर 2022 5:23 PM (IST)
जयहिंद का इनामी दंगल , भाजपा कार्यालय के सामने बना दंगल का अखाडा
चंडीगढ़ । बीते मंगलवार नवीन जयहिन्द बेरोजगारों व खिलाड़ियों के साथ CET क्वालीफाई करने व खेल कोटा बहाल करने की मांग को लेकर रोहतक के भाजपा राज्यकार्यालय के बाहर ईनामी दंगल करवाने पहुंचे। इससे पहले जयहिंद ने मानसरोवर पार्क से दादा दुलीचंद की अध्यक्षता में खिलाड़यों और बेरोजगार युवाओ के साथ भाजपा कार्यालय तक पैदल मार्च किया। इस रोष रैली में लगभग सैकड़ो युवा प्रदेश के अलग अलग जिलों से शामिल हुए , जिनकी ताकत ने सरकार को दिखा दिया की युवाओ को बेरोजगार छोड़ कर सरकार खुद को ताकतवर ना समझे। पैदल यात्रा की अगुवाई कर रहे नवीन जयहिंद और 102 वर्षीय किंग दादा दुलीचंद ने सरकार को सोटा दिखा कर चेताया की सरकार युवाओ को हलके में ना ले ये युवा प्रदेश की राजनीती पलटने की ताकत रखते है । दादा दुलीचंद ने भी सोटा उठाकर बेरोजगारों व खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया। जयहिन्द को रोकने के लिए सरकार के निर्देशानुसार प्रशासन ने भाजपा कार्यालय क्क पहले से ही घेराव किया हुआ था लेकिन उनकी सोच से उलट जयहिंद ने भाजपा कार्यालय के बहार ही एक ट्रॉली मिट्टी डलवा कर वह दंगल शुरू कर दिया , पहला दंगल एक बुजुर्ग और मुख्यमंत्री (मुख्यमंत्री का मुखौटा पहने) के बीच हुआ जिसमे मुख्यमंत्री को पटखनी मिली उसके बाद उपमुख्यमंत्री,स्वास्थ्य मंत्री,खेल मंत्री, शिक्षा मंत्री का आदि का मुखोटा पहने लोगो ने खिलाड़ियों के साथ दंगल किया लेकिन सभी को मुँह की खानी पड़ी। जीतने वालो को जयहिन्द ने ईनाम भी दिया। जिसके बाद जयहिन्द ने वहां मौजूदा अधिकारी को ज्ञापन सौंपा और सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले जल्द से जल्द CET क्वालीफाई करे व खिलाड़ियों का खेल कोटा बहाल करें वरना अगला दंगल विधानसभा के सामने होगा विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा का घेराव करके।


खिलाड़ियों और युवाओ को धोखा दे रही सरकार

जयहिन्द ने बताया कि हरियाणा सरकार, खेल मंत्री व मुख़्यमंत्री ने लाखों बेरोजगारों व खिलाड़ियों के साथ सीईटी व खेल कोटे के नाम पर सीधे-सीधे बहुत बड़ा धोखा किया है। सरकार द्वारा जारी एक नोटिफिकेशन के मुताबीक सीईटी में ही खिलाड़ियों का 3 प्रतिशत कोटा ग्रुप 'सी' की भर्ती के लिए केवल (ग्रह विभाग,खेल और युवा मामले विभाग,स्कूली शिक्षा विभाग और प्रारंभिक शिक्षा विभाग) में लागू रहेगा जबकि प्रदेश में कई ऐसे विभाग है जिनमे ये कोटा लागु होना चाहिए तो फिर क्यों खिलाड़ियों को केवल तीन विभागों तक ही सीमित कर दिया गया है । जयहिंद ने सरकार और नेताओ को ललकारते हुए कहा है की दम हो तो वो खुद सीईटी क़वालीफाई कर के दिखाए।


102 साल के दादा दुलीचंद भी उतरे युवाओ के समर्थन में


CET में खेल कोटा बहाल करने और युवाओ को नौकरी दिलाने को लेकर 102 साल के दादा दुलीचंद भी मैदान में उतर आये। दादा दुलीचंद इनामी दंगल के मुख्य अतिथि रहे। प्रदेश के युवाओ के सर पर अब प्रदेश के बुजुर्गों का भी हाथ है। जिससे सरकार को सीख लेना चाहिए की अब उनकी ये राजनैतिक रोटियां यहाँ नहीं सिकने वाली। अब प्रदेश का हर वर्ग एक होकर मुख्यमंत्री के हिटलरशाही फरमानो के विरुद्ध खड़ा है।



भाजपा नेता करते है फ़ोन, कहते है सही मुद्दे उठा रहे हो इन्हे और खींच के लो


जयहिंद ने बताया की इस सरकार और हिटलर मुख्यमंत्री के शासनकाल से खुद भाजपा के नेता भी दुखी है और वो जयहिंद को फ़ोन कर के बोलते है की तुम जो मुद्दे जनता के हित में उठा रहे है हो वो बिलकुल सही है , वो कहते है की ये सरकार ऐसे मानने वाली नहीं है इसलिए इन्हे और खींच के लो ताकि इन्हे कुछ शर्म आये और प्रदेश बर्बाद होने से बच जाए।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement