Corruption exposed in recruitment of Safai Karamcharis: Safai Karamchari of Jaipur Heritage Corporation-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 23, 2024 4:04 pm
Location
Advertisement

भ्रष्टाचार का खुलासा - घूस एकत्र कर लौट रहे जयपुर हैरिटेज निगम की सफाईकर्मी, उसका पुत्र व दलाल गिरफ्तार, 1.75 लाख रुपए बरामद

khaskhabar.com : गुरुवार, 13 जून 2024 06:27 AM (IST)
भ्रष्टाचार का खुलासा - घूस एकत्र कर लौट रहे जयपुर हैरिटेज निगम की सफाईकर्मी, उसका पुत्र व दलाल गिरफ्तार, 1.75 लाख रुपए बरामद
जयपुर। नगर निकायों में सफाई कर्मचारियों की भर्ती से पहले ही घूस लेकर भर्ती कराने का मामला सामने आया है। एसीबी ने जयपुर नगर निगम हैरिटेज की सफाईकर्मी, उसका पुत्र व एक दलाल को गिरफ्तार किया है जो विभिन्न जगहों से भर्ती के नाम पर घूस की राशि एकत्र कर जयपुर लौट रहे थे। इन तीनों को एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने जैतारण, ब्यावर से लौटते हुए गिरफ्तार किया है।


एसीबी की पाली द्वितीय इकाई ने जयपुर हैरिटेज निगम की सफाई कर्मचारी श्रीमती आशा भाटी, उनके पुत्र ऋषभ भाटी और एक प्राइवेट व्यक्ति योगेंद्र चौधरी उर्फ रवि को 1 लाख 75 हजार रुपये की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया है।

एसीबी को गुप्त सूचना मिली थी कि नगर निगम और नगर पालिकाओं में सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए अभ्यर्थियों से रिश्वत ली जा रही है। इस पर एसीबी की पाली द्वितीय इकाई ने पुलिस निरीक्षक चैनप्रकाश के नेतृत्व में यह कार्रवाई की। साथ ही एसीबी अजमेर की टीम पुलिस निरीक्षक श्रीमती कंचन भाटी ने जैतारण, पाली में भी इस अभियान को अंजाम दिया। यह कार्रवाई एसीबी उदयपुर (चार्ज जोधपुर रेंज) के उप महानिरीक्षक पुलिस राजेन्द्र गोयल और एसीबी अजमेर के उप महानिरीक्षक पुलिस रणधीर सिंह के सुपरविजन में की गई।

एसीबी की अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस श्रीमती स्मिता श्रीवास्तव के निर्देशानुसार, आरोपियों से पूछताछ की जा रही है और मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जाएगा।


एसीबी के महानिदेशक डॉ. रवि प्रकाश मेहड़ा ने इस कार्रवाई को सफल बताया और कहा कि यह कदम भ्रष्टाचार को समाप्त करने के प्रयासों का हिस्सा है।

एसीबी का कहना है कि नगर निगम और नगर पालिकाओं में भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए यह कार्रवाई की गई है। गुप्त सूचना के आधार पर तुरंत और प्रभावी ढंग से कार्यवाही की, जिससे भ्रष्टाचार के इस मामले का पर्दाफाश हो सका।


इस कार्रवाई से यह संदेश जाता है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ एसीबी की मुहिम लगातार जारी है और किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement