Can not forget the contribution of society of Banda Veer Bairagi - Manohar Lal-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jan 28, 2023 9:05 am
Location
Advertisement

बंदा वीर बैरागी के समाज के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता - मनोहर लाल

khaskhabar.com : शनिवार, 03 नवम्बर 2018 8:28 PM (IST)
बंदा वीर बैरागी के समाज के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता - मनोहर लाल
चंडीगढ़ । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि बाबा बंदा वीर बैरागी ने धर्म व समाज की रक्षा के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए। जब समाज पर खतरा था और श्री गुरु गोबिंद सिंह जी मुगलों से लड़ाई लड़ रहे थे और श्री गुरु तेग बहादुर जी व उसके चारों बच्चे शहीद हो चुके थे। ऐसे समय में बाबा बंदा वीर बैरागी की करूणा वीरता पर हावी हुई और उन्होंने मुगलों के खिलाफ सोनीपत जिला के ही खांडा गांव में सबसे पहले सेना का गठन किया। इसके बाद उन्होंने अन्याय व अधर्म के खिलाफ लड़ाई लड़ी। उनकी इस वीरता को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

मनोहर लाल आज सोनीपत जिले के गांव खांडा में सेहरी खांडा शौर्य दिवस के अवसर पर विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 3 नवंबर 1709 को खांडा गांव में ही बंदा वीर बैरागी ने मुगलों के खिलाफ सेना एकत्र की थी। कार्यक्रम का आयोजन कार्पोरेट कार्य मंत्रालय भारत सरकार के प्रादेशिक निदेशक डा. राज सिंह द्वारा किया गया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा बंदा वीर बैरागी ने लोहगढ़ में अपनी राजधानी बनाई और आज प्रदेश सरकार उनके सात हजार एकड़ में फैले किले में उनके नाम से बहुत बड़ा स्मारक बनाने जा रही हैं। उन्होंने कहा कि खांडा गांव में जो सेना बंदा बीर बैरागी ने बनाई थी उसमें से 769 सैनिक शहीद हुए थे और उनमें से एक का उनके परिवार से भी संबंध रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में भी हरियाणा की जनसंख्या ढ़ाई करोड़ है लेकिन देश की सेना में हरियाणा के 10 प्रतिशत सैनिक हैं।
हरियाणा से और अधिक सैनिक और सैन्य अधिकारी निकलें इसके लिए खांडा गांव में ही बंदा वीर बैरागी के नाम से ही 50 करोड़ रुपये की लागत से आम्र्ड फोर्सेस प्रीपेटरी इंस्टीट्यूट की स्थापना की जाएगी। इसके लिए 50 एकड़ जमीन गांव की पंचायत देगी और इसे विभिन्न औद्योगिक कंपनियों से सीएसआर (कार्पोरेट सोशल रिस्पांसिब्लिटी) के तहत मदद दी जाएगी और जितनी जरूरत होगी उतना पैसा प्रदेश सरकार देगी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने खांडा गांव के ही नागावाली तालाब का एक करोड़ रुपये की लागत से सौंदर्यकरण करने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि सिर्फ यही नहीं बल्कि प्रदेश के सभी तालाबों का विकास करने के लिए तालाब विकास प्राधिकरण का गठन किया गया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने 153 करोड़ रुपये की लागत से 9 विकास योजनाओं का शिलान्यास व उदघाटन भी किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल को उपायुक्त विनय सिंह ने जिला सोनीपत के लोगों की तरफ से केरल के बाढ़ पीडि़तों की सहायता के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए एक करोड़ 60 लाख 14 हजार 166 रुपये का चैक भी भेंट किया। मुख्यमंत्री ने वर्तमान सरकार के निर्माण के बाद प्रदेश में सडक़ों, अस्पतालों, स्कूल, कालेजों व उद्योगों के विकास के लिए कार्य किए। किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ दिया। सोएल हैल्थ कार्ड बनाए गए। स्किल डेवलेपमेंट के कार्य किए गए। सामाजिक क्षेत्र के लिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना शुरू की गई। हरियाणा का गौरव देश में कैसे बढ़े इसके लिए कार्य किया गया। प्रदेश में डा. भीमराव अंबेडकर, महर्षि वाल्मीकि, संत कबीरदास, संत रविदास की जयंती राजकीय तौर पर मनाई जा रही है। गीता जयंती कार्यक्रम को अंतरराष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि तीर्थाटन के लिए बेहतर कार्य करते हुए कुरुक्षेत्र की 48 कोस की परिक्रमा में 134 तीर्थों को विकसित किया जा रहा है।इस अवसर पर शहरी स्थानीय निकाय, महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन ने संबोधित करते हुए कहा कि आज मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में प्रदेश में विकास ने नई गति पकड़ी है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सामाजिक सुरक्षा को लेकर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान सफल हुआ है। सहकारिता राज्यमंत्री मनीष ग्रोवर ने कहा कि आज प्रदेश प्रगति की राह पर अग्रसर है। सोनीपत शुगर मिल की पेराई क्षमता बढ़ाई गई है। जल्द ही पानीपत, शाहबाद सहित कई शुगर मिलों की क्षमता बढ़ाई जाएगी। सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि पिछले चार वर्षों में सडक़, रेल को लेकर बेहतरीन कार्य हुए हैं। कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मनोहर बैरागी, मुुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन समेत कई लोग मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement