Awareness about cleanliness and water conservation was raised at the confluence of five rivers at Panchganga Tirtha-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jun 24, 2024 3:30 am
Location
Advertisement

पांच नदियों के संगम पंचगंगा तीर्थ पर जगाई स्वच्छता और पानी बचाने की अलख

khaskhabar.com : मंगलवार, 11 जून 2024 2:09 PM (IST)
पांच नदियों के संगम पंचगंगा तीर्थ पर जगाई स्वच्छता और पानी बचाने की अलख
वाराणसी। मंगलवार को नमामि गंगे ने गंगा- यमुना- सरस्वती- किरणा- धूतपापा नदियों के संगम पंचगंगा घाट पर स्वच्छता की अलख जगाई। इस दौरान दुर्गा घाट और ब्रह्मा घाट तक गंगा किनारे की साफ सफाई की गई। पांच नदियों के संगम पंचगंगा घाट पर मां गंगा की आरती उतार कर जल संरक्षण का संदेश दिया गया।

'जल प्रकृति का अनुपम उपहार है' , आओ घर घर अलख जगाए जल संरक्षण की ओर कदम बढ़ाएं ' जल प्रकृति की अनमोल देन है जल का सदुपयोग करें जैसे गगनभेदी नारों के बीच सभी को गंगा स्वच्छता और जल संरक्षण की शपथ दिलाई गई। गंगा में स्नान करने के लिए पहुंचे नेमी स्नानार्थियों और श्रद्धालुओं से गंदगी न करने का आग्रह किया।
नमामि गंगे काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि स्वच्छ एवं सुरक्षित जल अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी है। गंगाजल जैसे प्राकृतिक संसाधन की बचत करना बहुत जरूरी है ताकि आने वाली पीढ़ियों को ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। कुओं, नलकूपों, तालाबों और माता की तरह हितकारिणी नदियों से अंधाधुंध जल दोहन के कारण भूजल में कमी आ गई है। इसलिए हर व्यक्ति का दायित्व है कि वह जल के महत्व को समझते हुए इसका सदुपयोग करे और जल को व्यर्थ में न बहने दें।
जल शक्ति अभियान से जुड़ संकल्प लें कि जल बर्बादी रोककर जल संरक्षण करेंगे। आयोजन में प्रमुख रूप से नमामि गंगे काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला, राजेंद्र मिश्रा, दिनेश शर्मा, काजल मेहरोत्रा, सलोनी पाठक, सुमन गुजराती आदि शामिल रहे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement