Appeal to the Sikhs of Haryana to support Congress under the leadership of Bhupendra Singh Hooda in the Lok Sabha elections.-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Apr 19, 2024 2:20 am
Location
Advertisement

हरियाणा के सिखों को लोकसभा चुनावों में भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस के समर्थन की अपील

khaskhabar.com : सोमवार, 01 अप्रैल 2024 7:57 PM (IST)
हरियाणा के सिखों को लोकसभा चुनावों में भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस के समर्थन की अपील
- हरियाणा के सिखों को 2024 लोकसभा चुनावों में भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस के समर्थन की अपील - हरपाल सिंह एसजीपीसी मेंबर पंजाब व 2014 में बनी एचएसजीएमसी सिख मैनेजमेंट संघर्ष कमेटी

पंजाब। हरियाणा सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी , 2014 में जो कमेटी बनी थी और (अब हरियाणा सिख गुरद्वारा संघर्ष कमेटी से जानी जाती है) के मेम्बर ने प्रेस वार्ता कर 2024 लोकसभा चुनाव में भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी को समर्थन देने का ऐलान किया।

पंजाब एसजीपीसी के मौजूदा मेम्बर हरपाल सिंह ने कहा कि भूपिंद्र सिंह हुड्डा ने 2014 में कमेटी बनाई थी , उस वक़्त कोई सरकार की दखलंदाजी नहीं थी , लेकिन आज के हालात देखे तो जो चुनाव हुए वो इललीगल है , आज हरियाणा में सिख डबल माइंड हो रहे है, पहले हरियाणा गुरुद्वारों के चुनाव अनाउंस कर लिया और फिर वापिस लिया गया। लेकिन नई कमेटी में 3 प्रधान बदल चुके है , कितना बजट पास हुआ यह पता नहीं चलता ,यहां तक कि गाली गलौज भी सुनने को मिल रहा है ।

सिखों से अपील है कि देश मे चलते माहौल के मद्देनजर हरियाणा के सिखों को लोकसभा चुनावों में भूपिंदर सिंह हुड्डा के नेतृत्व में सम कांग्रेस को समर्थन दें।

सरकार से मांग है जल्द हरियाणा SGPC के चुनाव हो ताकि
भाजपा सरकार धक्के के साथ कमेटी में दखलंदाजी कर रहे है वो बंद हो।

हरियाणा में 35 प्रतिशत वोटों पर मार कर सकती हैं सिख और पंजाबी वोटर, इसलिये हरियाणा के सिखों को न्याय मिले, ऐसी गुजारिश है।

आज की प्रेस कांफ्रेंस में जसबीर सिंह भाटी एक्स जनरल सेक्रेटरी, एसजीपीसी , सिरसा, हरपाल सिंह, मेम्बर एस जी पी सी, अम्बाला, चंदीप सिंह खुराना , रोहतक, रणबीर सिंह फौजी , अम्बाला अकाली नेता, नार्वेल सिंह करनाल , सुखमित सिंह कुरुक्षेत्र , सुरिंदर पाल सिंह , अम्बाला , एम एम सिंह , अम्बाला , बलदेव सिंह कैथल मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement