Alwar police disclosed the blind murder in a few hours, arrested three including two brothers-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 2, 2022 3:33 pm
Location
Advertisement

अलवर पुलिस ने किया कुछ ही घंटों में ब्लाइंड मर्डर का खुलासा , दो सगे भाइयों समेत तीन गिरफ्तार

khaskhabar.com : गुरुवार, 24 नवम्बर 2022 1:17 PM (IST)
अलवर पुलिस ने किया कुछ ही घंटों में ब्लाइंड मर्डर का खुलासा , दो सगे भाइयों समेत तीन गिरफ्तार
अलवर । एमआईए स्थित एक कंपनी में एचआर के पद पर कार्यरत थाना उद्योग निवासी राजेश शर्मा की लाठियों से पीटकर हत्या करने के ब्लाइंड मामले का उद्योग नगर थाना पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मामले में बख्तल की चौकी निवासी दो सगे भाइयों दिग्विजय सिंह उर्फ छोटू पुत्र मुखराम (26) व दिगंबर उर्फ डैनी (35) तथा कमला कॉलोनी निवासी आरोपी राजकुमार पांचाल पुत्र पूरण (25) को गिरफ्तार किया गया है।

एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि मृतक राजेश शर्मा के बेटे पुलकित ने जिला हॉस्पिटल के मुर्दा घर पर पुलिस को दिए बयान में बताया कि 19 नवंबर की शाम काम से वापस आते समय गैलेक्सी होटल एमआईए के पास बाइक पर आए दो अज्ञात व्यक्तियों ने हॉकी से पीट-पीटकर उसके पिता को गंभीर घायल कर दिया और मोबाइल व पैसे छीन कर भाग गए। पिता की कंपनी में ठेकेदार दिग्विजय उर्फ छोटू उन्हें घर लेकर आया। गंभीर चोटों के कारण उसके पिता की आज मौत हो गई। रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज किया गया।
घटना की गंभीरता को देखते हुए एसपी गौतम ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरिता सिंह व सीओ देशराज गुर्जर के निर्देशन एवं एसएचओ बनवारीलाल के नेतृत्व में थाना उद्योग नगर एवं साइबर सेल से टीम गठित की। गठित टीम द्वारा घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए, मुखबिरों को एक्टिव किया गया। तकनीकी व मुखबिर की सहायता से घटना का खुलासा कर पुलिस ने इन तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
एसपी गौतम ने बताया कि पूछताछ में सामने आया कि स्टील कंपनी में एचआर राजेश शर्मा का कुछ दिनों कंपनी में स्लैग डालने की ठेकेदारी को लेकर छोटू उर्फ दिग्विजय सिंह, उसके भाई व चाचा के लड़कों के साथ झगड़ा हुआ था। इस झगड़े की वजह से 19 नवंबर की शाम दिग्विजय सिंह के कहे अनुसार डेनी उर्फ दिगंबर, गौवर उर्फ गोयल और राजकुमार पांचाल ने डंडों से राजेश के साथ मारपीट की।
गंभीर घायल हो जाने पर विश्वास जताने छोटू उर्फ दिग्विजय सिंह राजेश को उसके घर छोड़ने गया। अगले दिन फिर हाल-चाल जानने पहुंचा। राजेश की गंभीर हालत देख और परिवार वालों द्वारा अस्पताल ले जाने की बात कहने पर अर्जेंट काम बता वहां से फरार हो गया। आरोपी की गतिविधि और हाव-भाव संदिग्ध लगने पर पूछताछ के बाद घटना का पुलिस ने खुलासा कर दिया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement