Ajit Totuka receives Lifetime Achievement Award-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 2, 2022 4:14 pm
Location
Advertisement

अजीत तोतुका को मिला लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड

khaskhabar.com : सोमवार, 03 अक्टूबर 2022 08:11 AM (IST)
अजीत तोतुका को मिला लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड
जयपुर । अपनी अब तक की शानदार यात्रा का जश्न मनाते हुए, जस्ट हेल्थ एंड वेलनेस (जेएचडब्ल्यू) आज अपनी तीसरी वर्षगांठ मनाई। जेएचडब्ल्यू संस्थापक और सीईओ हिम्मत सिंह ने बताया कि इस अवसर एक पुरस्कार समारोह में जेएचडब्ल्यू द्वारा ’स्वास्थ्य के असली नायकों’ को पुरस्कार प्रस्तुत किये गए जिसमें चिकित्सा क्षेत्र में राजस्थान के 20 शीर्ष एजेंटों को 6 श्रेणियों में सम्मानित किया जिसमें सबसे अहम लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड अजीत तोतुका को समाज के लिए पिछले कई सालों के निस्वार्थ भाव काम के लिए दिया गया। इसके अलावा एक्सेलेंसी अवार्ड; इमर्जिंग प्लेयर अवार्ड; वुमेन अचीवर्स अवार्ड; टेक्नो सेवी अवार्ड; सोशली रिस्पॉन्सिबल अवार्ड; मैनेजर श्रेणि में एक्सेलेंसी अवार्ड दिये गये।


सचिन सिंह, हेड ग्रोथ एंड डेवलपमेंट सीके बिड़ला अस्पताल ने बताया कि कार्याक्रम के दौरान जन कल्याण के लिए 2 नई पहल सीके बिड़ला अस्पताल के सहयोग से आरंभ की गई। पहली पहल के तहत कॉर्पोरेट लैब चालू होंगी जो टीपीए और उनके कॉर्पोरेट ग्राहकों को प्रिवेंटिव हेल्थ केयर में आसानी से लाभ लेने में मदद करेगी। जो पूरी तरह से एक अलग मंच होगा। इस लैब का लाभ यह होगा कि सभी फास्टिंग नमूने घर से एकत्र किए जाएंगे, जिससे ग्राहक को खाली पेट इंतजार नहीं करना पड़े। यह स्वच्छता और स्वास्थ्य पर्यावरण पर भी ध्यान केंद्रित करेगा। चूंकि केवल टीपीए और कॉर्पोरेट क्लाइंट ही प्रयोगशाला में प्रवेश कर सकते हैं, वातावरण स्वस्थ और संक्रमण मुक्त होगा। रोकथाम, सर्वोच्च प्राथमिकता और ग्राहकों की आवश्यकता के अनुसार आकर्षक पैकेज तैयार किए जाएंगे।


जेएचडब्ल्यू, डायरेक्टर, भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि दूसरी पहल के तहत एक डिजिटल हेल्थ कार्ड जारी किया जो सभी ओपीडी सेवाओं में समर्थन करेगा और वर्तमान समय में ऐसा कोई दूसरा विकल्प बाजार में नहीं है। सामान्य तौर पर, हम देखते हैं कि अधिकतम स्वास्थ्य बीमा कंपनियां केवल रोगी उपचार को कवर करती हैं, लेकिन ओपीडी, डिगनोसिस, दंत चिकित्सा, कॉस्मेटिक उपचार और आंखों की देखभाल को नहीं, जो कि काफी महंगे ईलाज हैं। ओपीडी सेगमेंट में औसतन भारतीय परिवार सालाना कम से कम 25-30 हजार खर्च करता है। यहां तक कि कोविड-19 के बाद लागत दिन-ब-दिन बढ़ी है। इस कार्ड से प्राथमिक बीमाधारक के लिए प्राथमिक बीमा मे एक प्रिवेंटिव पैकेज शामिल है और उसके बाद ओपीडी पर 80ः की छूट। महीने में एक बार सुपर स्पेशलिस्ट से मुफ्त चिकित्सा सलाह और किफायती कीमतों में होम नर्सिंग देखभाल।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement