113 projects approved under Rural Development and Mahagram Scheme Rs 121 crore will be spent-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Apr 13, 2024 11:43 pm
Location
Advertisement

ग्रामीण संवर्धन और महाग्राम योजना के तहत 113 परियोजनाओं को मंजूरी, खर्च होंगे 121 करोड़ रुपये

khaskhabar.com : सोमवार, 04 मार्च 2024 4:35 PM (IST)
ग्रामीण संवर्धन और महाग्राम योजना के तहत 113 परियोजनाओं को मंजूरी, खर्च होंगे 121 करोड़ रुपये
चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने सात जिलों में ग्रामीण संवर्धन और महाग्राम योजना के तहत 113 नई परियोजनाओं को मंजूरी दी है। इन परियोजनाओं पर 121 करोड़ रुपये खर्च होंगे। ये परियोजनाएं यमुनानगर, पंचकूला, अंबाला, फरीदाबाद, झज्जर, भिवानी और दादरी में शुरू होंगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज यहां जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा क्रियान्वित की जाने वाली उक्त 113 परियोजनाओं को प्रशासनिक मंजूरी प्रदान की है। इस संबंध में एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि 2 परियोजनाएं महाग्राम योजना के तहत और 108 परियोजनाएं ग्रामीण संवर्धन कार्यक्रम के तहत स्वीकृत किया गया है। इसके अलावा 3 परियोजनाएं सीवरेज और स्वच्छता के तहत स्वीकृत हैं। महाग्राम योजना के तहत चरखी दादरी और भिवानी में दो परियोजनाओं पर 100.09 करोड़ खर्च किए जाएंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि महाग्राम योजना के तहत स्वीकृत दो परियोजनाओं में जल आपूर्ति योजना बौंद कलां का विस्तार, पंपिंग और डीआई पाइप लाइनें बिछाकर लोहारू नहर से गांव बौंद कलां, बास, बौंद खुर्द में 4 मौजूदा जल कार्यों के लिए पानी उपलब्ध कराना शामिल है। इस पर 69.70 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसी तरह से गांव धनाना, जिला भिवानी में सीवरेज सुविधा और सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण पर 33.39 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। प्रवक्ता ने बताया कि यमुनानगर, झज्जर और फरीदाबाद में सीवरेज और स्वच्छता की 3 परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है।

परियोजनाओं में फरीदाबाद के डिवीजन कार्यालय में 1.49 करोड़ रुपये की लागत से प्रयोगशाला का निर्माण करवाया जाएगा। इसी तरह से यमुनानगर में प्रयोगशाला उपकरणों की खरीद सहित नई जिला स्तरीय अपशिष्ट जल परीक्षण प्रयोगशाला पर 1.01 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। जिला झज्जर के बहादुरगढ़ में शहरी और ग्रामीण जल आपूर्ति के लिए पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग विभाग में प्रयोगशाला भवन के निर्माण पर 60.41 लाख खर्च किए जाएंगे।


ग्रामीण संवर्धन कार्यक्रम के तहत 108 परियोजनाओं को दी मंजूरी, खर्च होंगे 18.07 करोड़ रुपये। प्रवक्ता ने बताया कि ग्रामीण संवर्धन कार्यक्रम के तहत प्रमुख परियोजनाओं में पंचकूला के ब्लॉक बरवाला के गांव खेतपुराली में एक ट्यूबवेल लगवाने पर 17.42 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

इसी तरह से पंचकूला के बरवाला ब्लाक के गांव नग्गल मोगीनंद में ट्यूबवेल लगवाने पर 17.43 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।प्रवक्ता ने बताया कि अंबाला के गांव जैतपुरा में पुरानी क्षतिग्रस्त एसी/पीवीसी पाइप लाइनें की जगह डीआई जल आपूर्ति पाइप लाइनों के बिछाने पर 63.22 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। इसी तरह से अंबाला के नारायणगढ़ के गांव कलाल माजरा में पाइप लाइन बिछाने पर 24.98 लाख रुपये और अंबाला के नगावां गांव की कच्ची गलियों में नई जल आपूर्ति पाइप लाइनें पर 21.18 और अंबाला के गांव पुल्लेवाला में पुरानी जल आपूर्ति लाइनों को बदलने पर 24.44 लाख रुपये और यमुनानगर के गांव राजपुर की कच्ची गलियों में नई जल आपूर्ति लाइनें बिछाने पर 23.82 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

इसी तरह, नारायणगढ़ के सुंदरपुर गांव में नई जल आपूर्ति पाइप लाइनें (बिना ढके) बिछाने व सीवरेज पर 23.36 लाख, गांव शहजादपुर के पानी की आपूर्ति व सीवरेज पर 23.63 लाख रुपये, अंबाला के गांव तंडवाल में मौजूदा पुरानी एसी/पीवीसी जलापूर्ति लाइनों को बदलने व डी.आई बिछाने पर 23.94 लाख रुपये और यमुनानगर के गांव तेवर में जल आपूर्ति पाइप लाइन पर 24.97 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। वहीं पंचकूला के (धानी) में जल आपूर्ति पाइप लाइनें और अंबाला के तोका गांव में (एफएचटीसी) जल आपूर्ति पर लाइनों पर 21.98 लाख रुपये, अंबाला मोहरा गांव में एसी/पीवीसी की पुरानी जल आपूर्ति पाइप लाइन को बदलने पर 91.16 लाख रुपये, पंचकूला के टोडा गांव में जल आपूर्ति की लाइनें बिछाने पर 22.36 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। प्रवक्ता ने बताया कि यमुनानगर के ब्लाक प्रताप नगर पूर्ण सीवरेज सुविधा और एसटीपी के निर्माण पर 23.87 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement