Social media has reduced the age of songs and artists - Sophie Choudry-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 2, 2022 2:41 pm
Location
Advertisement

सोशल मीडिया ने कम की गानों और कलाकारों की उम्र - सोफी चौधरी

khaskhabar.com : शनिवार, 24 सितम्बर 2022 4:45 PM (IST)
सोशल मीडिया ने कम की गानों और कलाकारों की उम्र - सोफी चौधरी
जयपुर । बाबू छैल छबीला..', 'एक परदेसी मेरा दिल ले गया..', 'हंगामा हो गया..' जैसे पॉप्युलर एलबम्स के बाद अब पॉप दीवा और एक्ट्रेस सोफी चौधरी अपने नए ब्लॉकबस्टर गाने 'गोरी है' के गानों पर ठुमकती दिखी। शनिवार को शहर के वैशाली नगर स्थित एक सैलून में सोफी अपने नए एल्बम के प्रमोशन के लिए पहुंची। इस दौरान अदाकारा और वीडियो डायरेक्टर लोवल अरोड़ा ने एल्बम से जुड़े अनुभव साझा किए।


सोफी ने इस दौरान बताया कि इस सॉन्ग से आज का युवा काफी कनेक्ट कर रहा है, लॉन्च से तीन हफ़्तों में ही म्यूजिक वीडियो को यूट्यूब 17 मिलियन लोगों ने देखा है। अमिताभ बच्चन और जया प्रदा पर फिल्माएं गाने 'गोरी है कलाइयां' अपने दशक का काफी पसंदीदा गाना रहा है और आज भी इस गानें को लोग काफी पसंद करते है। इस गानों को सुनकर मुझे लगा की इस गानें को आज के युवाओं से कनेक्ट करना चाहिए। इस गानें की भव्यता को देखते हुए मैंने इसके साथ कोई छेड़-छाड़ नहीं की सिर्फ इस गाने की हुक लाइन का ही इस्तेमाल किया है।

सोफी चौधरी ने कहा कि आज जिस तरह की फ़िल्में बन रही है उसमे ऑडियंस का रुख देखते हुए फिल्मों में एक-दो ही गाने होते हैं। इनमें भी लिप सिंक जैसे गीत बहुत कम हो गए हैं। अब गीत 30 सेकंड से ज्यादा याद ही नहीं रहते। मगर पुराने गीतों की भावना, उनकी महक लोगों को अभी भी बहुत भाती है, यही कारण है कि मैं पुराने गीता को नए अंदाज में लोगों तक पहुंचा रही हूं। पुरानी फिल्मों के मधुर गीतों के अंश लेकर नए गीत और वीडियो बनाने का मेरा काम मुझे अच्छा लगता है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में सोशल मीडिया से कलाकार की पहुंच बहुत व्यापक हो गई है हालांकि गानों और फिल्मों की जिंदगी भी बहुत कम हो गई है। कलाकार और गीत जितनी जल्दी प्रसिद्ध होते हैं उतनी ही जल्दी भुला भी दिए जाते हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement