Annu Kapoors Hamare Barah is free from the ban, will compete with Chandu Champion on June 14-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 22, 2024 7:50 pm
Location
Advertisement

प्रतिबंध से मुक्त हुई अन्नू कपूर की हमारे बारह, 14 जून को चंदू चैम्पियन से होगा मुकाबला

khaskhabar.com : बुधवार, 12 जून 2024 8:29 PM (IST)
प्रतिबंध से मुक्त हुई
अन्नू कपूर की हमारे बारह, 14 जून को चंदू चैम्पियन से होगा मुकाबला
दिग्गज एक्टर अन्नू कपूर अभिनीत फिल्म 'हमारे बारह' की रिलीज का रास्ता साफ हो गया है। बॉम्बे हाईकोर्ट का फैसला इसके पक्ष में आया है। कोर्ट के फैसले के बाद निर्माताओं ने तुरंत फिल्म की नई रिलीज डेट घोषित कर दी। यह अब 14 जून को सिनेमाघरों में दस्तक देगी। सबसे बड़ी बात यह है कि अब यह फिल्म कबीर खान के निर्देशन में बनी कार्तिक आर्यन के अभिनय से सजी चंदू चैम्पियन को टक्कर देती नजर आएगी। पहले चंदू चैम्पियन के सामने कोई फिल्म नहीं थी। बॉक्स ऑफिस पर नजर रखने वालों का कहना है कि अब चंदू को अन्नू कपूर की हमारे बारह से अच्छा खासा मुकाबला करना पड़ेगा। हमारे बारह विवादों के कारण दर्शकों की नजरों में अच्छी खासी लोकप्रियता हासिल कर चुकी है। फिल्म की टीम ने अनुरोध किया है कि झारखंड, रांची में पुलिस महानिदेशक और महानिरीक्षक, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों की सख्त निगरानी लागू करें।



इसका उद्देश्य गलत सूचना और झूठी कहानियों के प्रसार को रोकना है जो फिल्म के संदेश को विकृत कर सकती हैं। निर्माताओं ने कुछ समुदायों की चिंताओं को भी संबोधित किया है और इस बात पर जोर दिया है कि फिल्म किसी भी समूह को नकारात्मक रूप से चित्रित नहीं करती है। उल्लेखनीय है कि फिल्म पहले 7 जून को रिलीज होने वाली थी। इसमें मनोज जोशी और परितोष त्रिपाठी जैसे कलाकार भी हैं।


'हमारे बारह' की पृष्ठभूमि उत्तर प्रदेश पर आधारित है और जनसंख्या वृद्धि के जटिल प्रभावों, इसके सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक प्रभावों की जांच करती है। फिल्म रवि एस गुप्ता, बीरेंद्र भगत, संजय नागपाल और शेओ बालक सिंह द्वारा सह-निर्मित व त्रिलोक नाथ प्रसाद सह-निर्माता हैं। इसके डायरेक्टर कमल चंद्रा हैं और इसकी पटकथा राजन अग्रवाल ने लिखी है। फिल्म में ‘मंजूर अली खान संजरी’ की कहानी है।

बच्चों को बार-बार जन्म देने के कारण उसकी पहली बीवी की मौत हो जाती है। लेकिन वो दूसरी बीवी से भी बच्चे पैदा करना जारी रखता है और जब उसकी बीवी छठी बार गर्भवती होती है तो, डॉक्टर उसे चेतावनी देते हैं कि उसकी पत्नी को जान का खतरा है और उसका गर्भपात करवा देना चाहिए। लेकिन फिर भी मंजूर इससे इनकार कर देता है। उसकी बेटी अल्फिया सौतेली मां को बचाने की ठानती है और गर्भपात करवाने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाती है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement