Navratri 2022: Maa Kushmanda Devi is worshiped on the 4th day-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 2, 2022 3:16 pm
Location
Advertisement

नवरात्र 2022: 4थे दिन की जाती है माँ कुष्मांडा देवी की पूजा

khaskhabar.com : बुधवार, 28 सितम्बर 2022 5:22 PM (IST)
नवरात्र 2022: 4थे दिन की जाती है माँ कुष्मांडा देवी की पूजा
हिंदू धर्म में नवरात्र का काफी अधिक महत्व है। नवरात्र के दिनों में मां दुर्गा के नौ स्वरूप की पूजा की जाती है। वहीं चौथे दिन मां कुष्मांडा देवी की पूजा की जाती है। माना जाता है कि मां कुष्मांडा देवी ने सृष्टि की रचना की थी। जब सृष्टि में अंधकार था, तब देवी ने इस स्वरूप में अंड यानी ब्रह्माण्ड की रचना की थी। इस कारण इन्हें कुष्मांडा कहते हैं। कुष्मांडा एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है कुम्हड़ा यानी पेठा की बलि देना। माना जाता है कि मां कुष्मांडा की पूजा करने से हर तरह के कष्टों से छुटकारा मिल जाता है। इसके साथ ही सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। जानिए मां कुष्मांडा की पूजा का शुभ मुहूर्त, स्वरूप और मंत्र।

मां कुष्मांडा की पूजा का शुभ मुहूर्त


नवमी तिथि आरंभ- 29 सितंबर को तडक़े 1 बजकर 27 मिनट से शुरू
नवमी तिथि समाप्त- 30 सितंबर सुबह 12 बजकर 9 मिनट तक
विशाखा नक्षत्र- 29 सितंबर सुबह 5 बजकर 52 मिनट से 30 सितंबर सुबह 5 बजकर 13 मिनट तक

अभिजीत मुहूर्त- सुबह 11 बजकर 35 मिनट से दोपहर 12 बजकर 22 मिनट तक

कैसा है मां कुष्मांडा का स्वरूप?
मां कुष्मांडा नौ देवियों में से चौथा अवतार माना जाता है। मां कुष्मांडा की आठ भुजाएँ होती है। इसी कारण उन्हें अष्ठभुजा के नाम से जाना जाता है। बता दें कि मां के एक हाथ में जपमाला होता है। इसके साथ ही अन्य सात हाथों में धनुष, बाण, कमंडल, कमल, अमृत पूर्ण कलश, चक्र और गदा शामिल है।

ऐसे करें मां कुष्मांडा की पूजा
इस दिन सुबह उठकर सभी कामों ने निवृत्त होकर स्नान आदि कर लें। इसके बाद विधिवत तरीके से मां दुर्गा और नौ स्वरूपों के साथ कलश की पूजा करें। मां दुर्गा को सिंदूर, पुष्प, माला, अक्षत आदि चढ़ाएं। इसके बाद मालपुआ का भोग लगाएं और फिर जल अर्पित करें। इसके बाद घी का दीपक और धूप जलाकर मां दुर्गा चालीसा , दुर्गा सप्तशती का पाठ करें। इसके साथ ही इस मंत्र का करीब 108 बार जाप जरूर करें।
संदेश—जीवन में कभी भी अंधकार यानी असफलताओं से डरना नहीं चाहिए। कोशिश करने से सफलता जरूर मिलती है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement