Revealed the gang involved in theft and robbery, 9 crooks arrested-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 25, 2022 10:19 pm
Location
Advertisement

चोरी-नकबजनी की वारदातों को अंजाम देने वाली गैंग का खुलासा , 9 बदमाश गिरफ्तार

khaskhabar.com : शुक्रवार, 12 अगस्त 2022 8:49 PM (IST)
चोरी-नकबजनी की वारदातों को अंजाम देने वाली गैंग का खुलासा , 9 बदमाश गिरफ्तार
उदयपुर । सलूंबर थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मंदिरों एवं सूने मकानों से नगदी, जेवरात, पशु इत्यादि चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा कर नौ अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के बाद चोरी एवं नकबजनी की 35 वारदातों का खुलासा हुआ है।
उदयपुर एसपी ने बताया कि अभियुक्त सुरेश उर्फ हुरजा पुत्र देवा, सोहन उर्फ सोमिया पुत्र देवा, धनराज उर्फ धन्ना पुत्र धर्मा, लालू राम उर्फ नाका पुत्र गोता, प्रभु पुत्र गोता, राजू उर्फ राजिया पुत्र भगवाना, रतिया उर्फ रतनलाल पुत्र भगवाना निवासी गांव गावंडा पाल जेलावत फला थाना सलूंबर तथा दिनेश पुत्र नगा निवासी गांव वाजुआ फला गीगला तथा नरेश पुत्र गोता निवासी गांव गावंडा पाल चोकवाड़ा थाना सलूंबर को गिरफ्तार किया गया हैं।
18 व 19 जुलाई की रात थाना सलुम्बर क्षेत्र के गांव सेरिया स्थित जैन मंदिर में लगे सात तालों को तोड़ पेटी से करीब 1 लाख रुपयों की चोरी तथा 26 व 27 जुलाई की रात गांव जावद स्थित चितोड़ा समाज के जैन मंदिर का ताला तोड़ अष्ट धातु निर्मित भगवान शांतिनाथ, महावीर, नेमिनाथ एवं भगवान अजीतनाथ की पांच मूर्तियां, चांदी के 2 किलो वजनी 3 छतर, तीन भावमंडल व दानपात्र से नगद राशि चोरी होने की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर अनुसंधान किया जा रहा था।
घटना की गंभीरता को देख चोरी-नकबजनी की इन वारदातों का खुलासा व आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश सांखला व सीओ सुधा पालावत के सुपरविजन एवं थानाधिकारी अजय सिंह राव के नेतृत्व में थाना सलूंबर से विशेष टीम गठित की गई। गठित टीम ने आसूचना व तकनीकी सहयोग से इन घटनाओं में शामिल गिरोह का खुलासा कर नौ अभियुक्तों को डिटेन कर पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया है। जिनसे अग्रिम अनुसंधान किया जा रहा है।
गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों से पूछताछ में सामने आया कि इस गिरोह के सदस्य मंदिरों व मकानों की रेकी कर घटना के दिन बाइक से निकलते हैं। घटनास्थल से करीब 5-7 किलोमीटर पहले बाइक को छुपा कर पैदल-पैदल बिना मोबाइल लिए सीसीटीवी कैमरों से बचकर चिन्हित किए गए मंदिरों एवं सूने मकानों तक पहुंच घटना को अंजाम देते हैं। उसके बाद अपनी बाइक लेकर गांव के अंदरूनी रास्तों से फरार हो जाया करते हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement