Discussion on mutual cooperation in the field of smart water supply and river rejuvenation in Denmark-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 25, 2022 11:09 pm
Location
Advertisement

डेनमार्क में स्मार्ट वॉटर सप्लाई एवं नदियों के पुरूद्धार के क्षेत्र में आपसी सहयोग पर हुई चर्चा

khaskhabar.com : शुक्रवार, 12 अगस्त 2022 8:33 PM (IST)
डेनमार्क में स्मार्ट वॉटर सप्लाई एवं
नदियों के पुरूद्धार के क्षेत्र में आपसी सहयोग पर हुई चर्चा
जयपुर । जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. महेश जोशी के नेतृत्व में डेनमार्क गये प्रतिनिधि मण्डल ने शुक्रवार को डेनमार्क के अधिकारियों के साथ पेयजल प्रबंधन का फ्रेमवर्क तैयार करने, शहरी जल, स्मार्ट वॉटर सप्लाई, वेस्ट वॉटर ट्रीटमेंट, सिवरेज ट्रीटमेंट प्लांट से ऊर्जा उत्पादन तथा नदियों के पुनरूद्धार जैसे क्षेत्रों में आपसी सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की। डॉ. जोशी ने कहा कि जल एवं पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में डेनमार्क का कार्य सराहनीय है। आरहूस नदी जल परियोजना और वेस्ट वॉटर मैनेजमेंट सिस्टम जल एवं पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में बेहतरीन उदाहरण हैं। डेनमार्क के सहयोग से इस तरह के प्रयोग राजस्थान में भी किए जा सकते हैं। उल्लेखनीय है कि मार्च, 2021 में मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत एवं डेनमार्क के राजदूत श्री फ्रेडी स्वान की मुलाकात के दौरान डेनमार्क एवं राजस्थान के बीच आपसी सहयोग बढ़ाने पर चर्चा हुई थी। इसी परिप्रेक्ष्य में जलदाय मंत्री डॉ. महेश जोशी के नेतृत्व में अधिकारियों का प्रतिनिधि मण्डल डेनमार्क यात्रा पर गया है। इससे पहले अक्टूबर, 2021 में डेनमार्क का एक प्रतिनिधि मण्डल राजस्थान आया था और यहां जयपुर और उदयपुर का दौरा कर जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग तथा स्वायत्त शासन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात कर आपसी समन्वय पर चर्चा की थी। डेनमार्क के वेस्ट वॉटर एक्सपर्ट श्री पीटर फिश्चर एवं मिस डिट्ठे हानसेन ने 31 मार्च, 2022 को जयपुर आकर डेनमार्क में वेस्ट वॉटर सिस्टम के बारे में अपने अनुभव साझा किए थे। उन्होंने ग्रीन स्ट्रेटजिक पाटर्नरशिप पर भी चर्चा की थी। डॉ. जोशी के नेतृत्व में इस यात्रा के दौरान राजस्थान के प्रतिनिधि मण्डल ने स्मार्ट वॉटर रिसोर्स मैंनेजमेंट, पेयजल सेवाओं में सुधार, वॉटर क्वालिटी और डिस्ट्रीब्यूशन की एफिसिएंंसी, वेस्ट वॉटर प्लानिंग एण्ड मैनेजमेंट, अर्बन प्लानिंग एण्ड गवर्नेंस के साथ ही पॉलिटिकल एवं एडमिनिस्ट्रेटिव स्ट्रक्चर के बारे में जानने और समझने की कोशिश की। डेनमार्क की आरहूस नदी जल परियोजना, मॉरसेलिस बॉर्न वेस्ट वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का अवलोकन किया। प्रतिनिधि मण्डल ने प्लांट से एनर्जी प्रोडक्शन की प्रक्रिया भी देखी। प्रतिनिधि मण्डल ने डेनमार्क के वॉटर सेक्टर में काम कर रहे विश्वविद्यालयों एवं संस्थाओं का भी दौरा किया। डेनमार्क की वॉटर सप्लाई यूटिलिटी का भी अवलोकन किया।

अद्भुत आतिथ्य के लिए मंत्री डॉ. महेश जोशी ने डेनमार्क को दिया धन्यवाद
जलदाय मंत्री ने कहा कि डेनमार्क की इस यात्रा के दौरान यहां के लोगों से मिलने और उनसे बातचीत करने का मौका मिला। डेनमार्क के लोग काफी मिलनसार, सहयोगी एवं खुशमिजाज हैंं। हम सभी डेनमार्क के अद्भुत आतिथ्य के लिए शुक्रगुजार हैंं। मंत्री डॉ. महेश जोशी ने डेनमार्क के अधिकारियों को राजस्थान आने का निमंत्रण देते हुए कहा कि आपकी मेजबानी का अवसर मिलना हमारे लिए सौभाग्य की बात होगी। इस प्रतिनिधि मण्डल में अतिरिक्त मुख्य सचिव जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी डॉ. सुबोध अग्रवाल, प्रमुख सचिव जल संसाधन आनंद कुमार, स्वायत शासन सचिव जोगाराम, महापौर नगर निगम उदयपुर गोबिंद सिंह, कमिश्नर उदयपुर नगर निगम हनुमान सिंह बारहट, आरयूआईडीपी के मुख्य अभियंता अरूण व्यास, मनोज कुमार सोनी प्रोजेक्ट डायरेक्टर रूडसिको, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता शुभांशु दीक्षित शामिल हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement