Manali is the center of tourist attraction situated in the lap of Himalayas Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 4, 2022 7:05 am
Location
Advertisement

हिमालय की गोद में बसा पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है मनाली

khaskhabar.com : शनिवार, 28 मई 2022 12:28 PM (IST)
हिमालय की गोद में बसा पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है मनाली
प्राकृतिक स्थिति
मनाली भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य के कुल्लू जिले में स्थित एक नगर है। यह 1,950 मीटर (6,398 फीट) की ऊँचाई पर ब्यास नदी के किनारे कुल्लू घाटी के उत्तरी छोर पर बसा हुआ है। मनाली राज्य की राजधानी, शिमला, से 270 किमी उत्तर में, चंडीगढ़ से 309 किमी पूर्वोत्तर में और दिल्ली से 544 किमी पूर्वोत्तर में स्थित है। यह भारत के लद्दाख क्षेत्र और फिर काराकोरम दर्रे के पार तारिम द्रोणी में यारकन्द और खोतान जाने के प्राचीन व्यापारिक मार्ग का आरम्भ-बिन्दु है। मनाली एक लोकप्रिय पर्वतीय स्थल (हिल स्टेशन) है और पर्यटकों के लिए लाहौल और स्पीति जिले तथा लेह का प्रवेश द्वार भी है।
मनु के नाम पर है शहर
मनाली शहर का नाम मनु के नाम पर पड़ा है। मनाली शब्द का शाब्दिक अर्थ मनु का निवास-स्थान होता है। पौराणिक कथा के मुताबिक जल-प्रलय से दुनिया की तबाही के बाद मनुष्य जीवन को दुबारा निर्मित करने के लिए साधु मनु अपने जहाज से यहीं पर उतरे थे। मनाली को देवताओं की घाटी के रूप में जाना जाता है। पुराने मनाली गांव में ऋषि मनु को समर्पित एक अति प्राचीन मंदिर हैं।
इतिहास
मनाली और उसके आस-पास के क्षेत्र भारतीय संस्कृति और विरासत के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इसे सप्तर्षि या सात ऋषियों का घर बताया गया है। अस्सी के दशक में कश्मीर में बढ़ते आतंकवाद के बाद मनाली के पर्यटन को जबरदस्त बढ़ावा मिला। जो गाँव कभी सुनसान रहा करता था वो अब कई होटलों और रेस्तरों वाले एक भीड़-भाड़ वाले शहर में परिवर्तित हो गया। मनाली 32.16एहृ 77.10एश्व पर अवस्थित है। यह शहर 1,800 मीटर (5,900 फीट) से ऊपरी (प्राचीन मनाली) भाग, 2,000 मीटर (6,600 फीट) की ऊंचाई तक फैला हुआ है। मनाली का मौसम जाड़े में प्रबल रूप से ठंडा और गर्मी के दिनों में हल्का ठंडा रहता है। इस क्षेत्र में हिमपात जो आमतौर पर दिसंबर के महीने में होता था, पिछले पन्द्रह वर्षों से विलंबित होकर जनवरी या शुरूआती फरवरी में होने लगा है।

ये भी पढ़ें - घर का डॉक्टर एलोवीरा

2/18
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement