These things should not be in the bathroom, there is communication of negativity in the house-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 26, 2022 12:02 am
Location
Advertisement

बाथरूम में नहीं होनी चाहिए यह वस्तुएँ, घर में होता है नकारात्मकता का संचार

khaskhabar.com : शनिवार, 06 अगस्त 2022 5:49 PM (IST)
बाथरूम में नहीं होनी चाहिए यह
वस्तुएँ, घर में होता है नकारात्मकता का संचार
मेरे एक पडौसी ने हाल ही में अपने मकान को वास्तुशास्त्र के अनुसार दोबारा से बनवाया है। जब उनसे इस बारे में पूछा गया पिछले 40 सालों से आप इस मकान में रह रहे हैं तब आपको वास्तु का दोष पता नहीं चला। उनका कहना था कि जब मैंने अपने इस मकान को वास्तुशास्त्री को दिखाया तो उन्होंने बताया कि इसमें वास्तुदोष है। वास्तु एक ऐसी विधा हैं जिसमें बताए गए नियम जीवन की सकारात्मकता को तय करते हैं। वास्तु के अनुसार घर का हर हिस्सा आपके जीवन की तरक्की और खुशियों में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। आज इस बात का ध्यान रखा जाता है कि घर का हर कोना वास्तु के अनुसार हो। पूजा घर, रसोई घर यहाँ तक कि बाथरूम भी वास्तु के अनुसार ही बनाए जा रहे हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के बाथरूम में कुछ चीजें रखना वर्जित है जो वास्तु दोष का कारण बनते हुए नकारात्मकता का संचार करती हैं।

बाथरूम में रखी ये चीजें घर से रुपया-पैसा और धन समृद्धि को दूर करती हैं। आइए डालते हैं एक नजर उन चीजों पर जो बाथरूम में नहीं होनी चाहिए—

खराब पानी का नल
यदि आपके बाथरूम में ऐसा नल है जिससे पानी टपकता रहता है तो आपको उसे तुरंत हटा देना चाहिए। ऐसा नल घर में धन हानि का कारण बनता है और आपका पैसा व्यर्थ के कार्यों में जाता है।

ऐसी हो बाल्‍टी
बाथरूम में साफ-सफाई का विशेष रूप से ध्‍यान रखें और बाल्‍टी व मग भूल से भी गंदा नहीं रहना चाहिए। बाथरूम में बेहतर होगा कि हल्‍के नीले रंग की बाल्‍टी का प्रयोग करें। बाथरूम में खाली बाल्टी कभी भी नहीं रखनी चाहिए। ऐसी बाल्टी घर में दुर्भाग्य का कारण बन सकती है। वास्तु के अनुसार बाथरूम में हमेशा बाल्टी में पानी भरकर रखने की सलाह दी जाती है।

फोटो लगाएं
आपके स्‍नान करने के स्‍थान यानी कि बाथरूम में भूलकर भी कोई तस्‍वीर या फिर फोटो लगानी चाहिए। ऐसा होने पर नेगेटिव एनर्जी उत्‍पन्‍न होता है और दोष बढ़ता है।

गैजेट का इस्‍तेमाल
अक्‍सर देखने में आता है कि कुछ लोग नहाने के टब में या फिर टॉयलट सीट पर बैठकर फोन चलाते हैं। ऐसा यदि आप भी करते हैं तो तत्‍काल बंद करें। इलेक्‍ट्रॉनिक गैजेट और मशीनों का संबंध शनि और राहु से होता है। बाथरूम में इनका प्रयोग करने से शनि और राहु का दोष लगता है।

चप्‍पल हों ऐसी
कुछ लोग अपने घर में बाथरूम के लिए चप्‍पले अलग रखते हैं। ऐसा करने में कोई बुराई भी नहीं है। लेकिन ध्‍यान रखें कि यह चप्‍पल बाथरूम के अंदर न रखें और न ही ये टूटी हुई होनी चाहिए। ऐसी चप्पलें घर में नकारात्मक ऊर्जा का कारण बनती हैं।

टॉयलट सीट
आपके बाथरूम में टॉयलट सदैव साफ-सुथरी रहनी चाहिए। गंदी टॉयलट सीट जहां सेहत को नुकसान पहुंचाती है वहीं दोषपूर्ण भी मानी जाती है। ऐसा बाथरूम घर में दुखों का कारण बनता है।

टूटे हुए बाल
कुछ लोगों की आदत होती है कि नहाते वक्‍त बाल धोते हैं और टूटे हुए बालों को वहीं छोड़ देते हैं। ऐसा करना शास्‍त्रों में दोषपूर्ण माना गया है। भूलकर भी ऐसा न करें।

टूटा दर्पण
अगर आपके बाथरूम में लगा शीशा किसी कारण से टूट गया है तो उसे बदल दें और अगर यह गंदा है तो इसे तुरंत साफ कर दें। शीशे का गंदा या टूटा रहना भी एक दोष है। यदि आप बाथरूम में टूटे हुए शीशे का इस्तेमाल करते हैं तो ये आपके घर में आर्थिक हानि का कारण बन सकता है। पहली बात शीशा टूटा हुआ नहीं होना चाहिए और कभी भी टॉयलेट के सामने आपको शीशा नहीं लगाना चाहिए।

बाथरूम में अंधेरा
भले ही आपको ये बात सुनकर आश्चर्य हो लेकिन घर में बाथरूम ऐसी जगह पर होना चाहिए जहां पर्याप्त रोशनी आती हो। यदि बाथरूम में हमेशा अंधेरा रहता है तो ये आपके जीवन में नकारात्मकता का कारण बन सकता है।

पौधे
दरअसल पौधों का संबंध शुद्धता और सात्‍विकता से माना गया है। इसलिए बाथरूम में इन्‍हें लगाना सहीं नहीं है। खास तौर पर अटेंच्‍ड लैट बाथ में तो भूलकर भी न लगाएं।

भीगे हुए कपड़े
महिलाओं की ख़ास आदत होती है बाथरूम में पानी में कपड़े भिगोकर रखने की। लेकिन यदि वास्तु की मानें तो कभी भी आपको घर के बाथरूम के अंदर कपड़े भिगोकर नहीं रखने चाहिए। ऐसा करने से आपके जीवन में नेगेटिविटी आती है।

बाथरूम में कबाड़
कुछ लोगों की आदत होती है कि घर का फालतू सामान और कबाड़ बाथरूम में रख देते हैं। बाथरूम स्‍नान का स्‍थान होता है न कि कबाड़ रखने का स्‍थान, इसलिए भूलकर भी ऐसा न करें।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement